अन्ना हजारे का अनशन समाप्त महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने जूस पिलाकर किया समाप्त

NEWS

नई दिल्ली मिथलांचल न्यूज़ :-समाजसेवी आंदोलनकारी अन्ना हजारे के 7 दिनों से चला आ रहा अनशन आज गुरुवार को समाप्त हो गया है महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री फर्नांडिस ने खुद अन्ना हजारे को जूस पिलाकर अनशन समाप्त होने की घोषणा की.

मंच पर मौजूद अन्ना हजारे के आंदोलन से जुड़े लोगों ने कहा है कि सरकार ने उनकी मांगें मान ली है और सरकार को अपने वादे पूरे करने के लिए 6 महीने का समय दिया गया है अगर इन 6 महीनों में सरकार अपनी वादा पूरा नहीं करती है तो फिर से अनशन करने की चेतावनी दी है.

अनशन तुड़वाने के लिए महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत दिल्ली के रामलीला मैदान पहुंचे थे..

केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा है कि सरकार किसानों के ऊपर की लागत से डेढ़ गुना अधिक राशि देने को तैयार है .लोकपाल पर उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार जल्दी ही लोकपाल पर फैसला करेगी.

आपको बता दें कि अन्ना हजारे 23 मार्च से अनशन पर बैठे थे और आज भी उनके अनशन का सातवां दिन था कुछ नहीं खाने की वजह से अन्ना का वजन 5 किलोग्राम तक कम हो गया है.

अन्‍ना हजारे की मांगें

-किसानों के कृषि उपज की लागत के आधार पर डेढ़ गुना ज्‍यादा दाम मिले.

-खेती पर निर्भर 60 साल से ऊपर उम्र वाले किसानों को प्रतिमाह 5 हजार रुपये पेंशन.

-कृषि मूल्य आयोग को संवैधानिक दर्जा तथा सम्पूर्ण स्वायत्तता मिले.

-लोकपाल विधेयक पारित हो और लोकपाल कानून तुरंत लागू किया जाए.

-लोकपाल कानून को कमजोर करने वाली धारा 44 और धारा 63 का संशोधन तुरंत रद्द हो.

-हर राज्य में सक्षम लोकायुक्त नियुक्‍त किया जाए.

-चुनाव सुधार के लिए सही निर्णय लिया जाए.