अब वडोदरा में उत्तर भारतीयों पर हमला, 6 गाड़ियों में की गई तोड़-फोड़

NEWS

गुजरात में उत्तर भारतीय पर हमले खत्म होने का नाम नहीं ले रहे. उत्तर भारतीयों पर ताजा हमला वडोदरा में किया गया और इस दौरान 6 गाड़ियों में तोड़-फोड़ की गई है. दूसरी ओर, हिंदी भाषी लोगों के पलायन पर देश की सियासत गरमाने लगी है.

गुजरात में उत्तर भारतीयों पर हमले का ताजा मामला वडोदरा के खोदियार और नागर से सामने आया, जहां उत्तर भारतीयों पर स्थानीय लोगों ने हमला कर दिया. इस इलाके में उत्तर भारत के लोग रह रहे थे, इनसे पहले कुछ लोगों ने बातचीत की और फिर इनके वाहनों को निशाना बनाया.

पुलिस ने करीब 25 हमलावरों में से कुछ लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. हमले के दौरान 6 गाड़ियों पर हमला किया गया. गाड़ियों के शीशे तोड़ दिए गए. हमलावरों ने वहां काफी नुकसान किया है.

हालात नियंत्रण में

हालांकि पुलिस प्रशासन का दावा है कि हालात उसके नियंत्रण है और पुलिस लगातार वहां पर गश्त लगा रही है. पुलिस अप्रवासी लोगों को लगातार समझाने में जुटी है कि उन्हें वहां डरने की कोई जरूरत नहीं है.

इस बीच गुजरात के गृह राज्यमंत्री प्रदीप सिंह जाडेजा ने जानकारी दी है कि आईटी एक्ट के तहत अब तक 7 मामले में दर्ज किए गए हैं और 20 लोगों को गिरफ्तार भी किया गया.

बता दें कि राज्य के साबरकांठा जिले में 28 सितंबर को 14 महीने की एक बच्ची के साथ बलात्कार हुआ था और इस आरोप में बिहार निवासी मजदूर को गिरफ्तार किया गया था. इसके बाद से ही, छह जिलों में हिन्दी भाषी लोगों के खिलाफ हिंसा की घटनाएं हुईं. इनमें से ज्यादातर जिले उत्तर गुजरात के हैं.