उपराष्ट्रपति ने की तीनदिवसीय बिहार दिवस कार्यक्रम की शुरुआत.. एक विशेष रिपोर्ट..

BIHAR BREAKING NEWS HOME LIVE NEWS Patna POLITICS States

(रेशमा ख़ातून/पटना):पटना के गाँधी मैदान में बिहार दिवस का शुभारंभ किया गया ! २२ – २४ मार्च तक चलने वाले इस तीन दिवसीय समारोह का शुभारंभ उपराष्ट्रपति वेंकैय्या नायडू द्वारा ज्योति प्रज्वलित कर ” तमसो मा ज्यतिर गमय ” कह कर किया गया !

वेंकैय नायडू ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार , उप मुख्यमन्त्री सुशील कुमार मोदी , बिहार के राज्यपाल सत्यपाल मलिक के अलावा वहाँ उपस्थित सभी मंत्री गणों और बिहार पुलिस महानिदेशक को धन्यवाद किया !

इस समारोह का मुख्य उद्देश्य बिहार दिवस के अलावा चम्पारण सत्याग्रह का शताब्दी वर्ष समापन भी था , अभी से ठीक १०० वर्ष पूर्व १९१७ में अंग्रेज़ों द्वारा ग़रीब किसानों को जबरदस्ती नील की खेती करवाने के विरोध में गांधी जी ने चम्पारण में सत्याग्रह आंदोलन की शुरुआत की थी !

उप राष्ट्रपति ने ऐसी कई बातों की ओर ध्यान देते हुए कहा कि पटना के गांधी मैदान और सत्याग्रह आंदोलन की इतिहासिक , सांस्कृतिक और राजनीतिक रूप में गौरव पुर्ण इतिहास रहा है ! दुनिया का सबसे बड़ा हथियार एटम बम नहीं बल्कि अहिंसा है , गोली ने लोगों को नहीं बदला बल्कि सत्याग्रह आंदोलन ने अंग्रेज़ों को अपना कानून बदलने के लिए मजबूर कर दिया !
बिहार की भूमि की तरह यहां के लोगों के विचार “फ़रटेल” उपजाऊ हैं !
राजेन्द्र प्रसाद और जय प्रकाश नारायण की इस भूमी को नमन !

बिहार के सूफ़ी संतों ने सभी को एकता का पाठ पढ़ाया , ये भूमी बुद्ध , महावीर और गुरू गोविंद सिंह की भूमी है !
भारत हमेशा से ही विश्व गुरू के रूप में देखा जाता रहा है तब दुनिया भर के लोग नालंदा विश्व विधालय में पढ़ने आते थे !
मज़हब पूजा पद्धति है जिसको जो मानना है मानो , कुछ लोग स्वयं को भागवान मानते हैं , सिर्फ भारत माता कहकर माल्यार्पण करना देश भक्ति नहीं , हमारे देश में रह रहे सभी १३० करोड़ लोग भारतीय हैं चाहे वो मुस्लिम हो क्रिस्चियन हो सभी !
हर किसी को इन चार सी को अपनाना चाहिए १) कैलीबर, २) कैरेक्टर ,३) कैपेसिटी , ४) कॉनडेक्ट !
पहले के लोग बड़े-बड़े महानुभवों से उनकी जाती नहीं पूछते थे !
डकैत कभी भी ग्रेट नहीं होते !
अंत में उन्होंने कहा कि नई पीढ़ी को हमारे महानुभवों गाँधी जी तथा स्वतंत्रता सेनानियों के बारे में जानना चाहिए ताकि उनका आत्म उत्थान हो सके !
सभी बिहार वासियों को उप राष्ट्रपति वेंकैय्य नायडू ने बिहार दिवस की हार्दिक शुभ कामनायें दीं !