पप्‍पू यादव को लेकर महागठबधन में बखेड़ा, कांग्रेस पर हमलावर हुआ राजद

BIHAR

जन अधिकार पार्टी (जाप) के नेता और सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव की बिहार कांग्रेस के प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल से मुलाकात को लेकर सियासी बखेड़ा शुरू हो गया है। कांग्रेस के अंदर भी इस मसले पर बवाल है। राजद तो पूरी तरह कांग्रेस पर हमलावर ही हो गया है। राजद विधायक भाई वीरेंद्र ने यहां तक कह दिया कि महागठबंधन का फैसला कांग्रेस अकेले नहीं कर सकती है।

गोहिल से पप्‍पू की गुपचुप मुलाकात

विदित हो कि रविवार की देर रात पप्पू यादव सदाकत आश्रम गए थे। वहां उन्होंने बिहार कांग्रेस के प्रभारी और राष्ट्रीय प्रवक्ता शक्ति सिंह गोहिल से मुलाकात की थी। गुपचुप हुई इस मुलाकात की जानकारी न तो बिहार कांग्रेस के नवनियुक्त अध्यक्ष मदन मोहन झा को दी गई न ही प्रभारी अध्यक्ष कौकब कादरी को।

प्रदेश कांग्रेस अध्‍यक्ष ने कही ये बात

हालांकि, अध्यक्ष डॉ. झा इसे कोई अप्रत्याशित मसला नहीं मानते। उनका तर्क है कि गोहिल बिहार यात्रा के दौरान अमूमन सदाकत आश्रम में ही विश्राम करते हैं। पप्पू यादव बिहार से सांसद हैं। उन्होंने मिलने की इच्छा जाहिर की होगी तो उन्हें बुला लिया गया होगा। हर गतिविधि की जानकारी पार्टी अध्यक्ष को रहे, यह जरूरी नहीं है। इसे राजनीति के चश्मे से देखना सही नहीं है।

राजद बोला: अकेले कोई फैसला नहीं कर सकती कांग्रेस

 गोहिल के बयान से उलट राजद के भाई वीरेंद्र ने कहा कि पप्पू यादव भरोसे के व्यक्ति नहीं हैं। उन्हें धोखा देने की आदत है। कांग्रेस को पप्पू यादव पर फैसला करने के पहले विचार करना चाहिए। पप्पू यादव राजग से भी मिले हुए हैं। उनका राजनीतिक चरित्र बदलता रहता है। कांग्रेस को ऐसे व्यक्ति के बारे में सोच-समझ कर कोई भी निर्णय लेना चाहिए।