भारतीय यूजर्स को नहीं मिलेगी योरपीय संघ जैसी सख्त डेटा सुरक्षा

blog

सैन फ्रांसिस्को(एजेंसी)। डेटा लीक होने से निशाने पर आई दिग्गज सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक भारतीयों समेत दुनिया के अन्य देशों के यूजर्स को योरपीय संघ (ईयू) जैसी सख्त डेटा सुरक्षा मुहैया नहीं कराएगी। फेसबुक के सह-संस्थापक और सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने कहा कि वह डेटा की प्राइवेसी (निजता) पर ईयू के नए सख्त कानून से सहमत तो हैं लेकिन इसे दुनियाभर में मानक के तौर पर अमल करने से हिचक रहे हैं। इसके लिए उन्होंने विशेष प्रावधानों का हवाला दिया। कहा, फेसबुक डेटा की सुरक्षा के लिए कड़े उपायों पर काम कर रही है।

डेटा के दुरुपयोग के बाद उठी सुरक्षा की मांग

ब्रिटिश फर्म कैंब्रिज एनालिटिका ने करीब पांच करोड़ फेसबुक यूजर्स के डेटा एक एप के जरिए हासिल किए थे। इन आंक़़डों का कथित रूप से दुरपयोग किया गया था। इसके चलते निशाने पर आई फेसबुक से यूजर्स की निजी जानकारी की सुरक्षा के लिए कड़े उपाय करने की मांग की जा रही है। जुकरबर्ग ने एक विशेष साक्षात्कार में कहा कि फेसबुक डेटा सुरक्षा के लिए कड़े उपाय पर काम कर रही है।