लालच ही पर्यावरण को नष्ट कर रहा: नीतीश कुमार

BIHAR

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को श्री कृष्ण विज्ञान केंद्र में साइंस स्फीयर का उद्घाटन करते हुए कहां है. कि पृथ्वी जरूरतों की आपूर्ति कर सकती है लालच की नहीं …लोग जरूरत से आगे बढ़कर लालच की पूर्ति करना चाहते हैं . गड़बड़ी करने वाले प्रमुखता भी पा लेते हैं .मेहनत कर पैसा कमाना तो अलग बात है . कुछ लोग तो ऐसे भी हैं जो कुछ किए बिना ही काम आते रहते हैं.यही लालच पर्यावरण और प्रकृति को नष्ट कर रहा है.

श्री कृष्ण विज्ञान केंद्र में साइंस ऑन स्फीयर का उद्घाटन करते हुए सीएम ने कहा कि बिहार की सत्ता संभालते ही पर्यावरण को लेकर काम करना शुरू कर दिया था. बाढ़ और सूखा की त्रासदी झेल रहे बिहार में एक समय 1200 मिमी से 1500 मिमी बारिश होती थी जो अब हर साल 800 मिमी हो गई है. मौसम में उतार चढ़ाव हो रहे हैं. मुख्यमंत्री ने इन सब का कारण प्रकृति के साथ हो रहे छेड़छाड़ को बताया है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि 2005 में हरित क्षेत्र 9 फ़ीसदी भी नहीं थी जो अब लगभग 15 फ़ीसदी के करीब पहुंच चुका है समतल भूमि के कारण बिहार का हित आवरण अधिकतम 17 प्रतिशत हो सकता है और इस लक्ष्य को भी प्राप्त किया जाएगा.

साइंस सिटी पर जल्द ही शुरू होगा काम

मुख्यमंत्री ने साइन सिटी को अपने ड्रीम प्रोजेक्ट बताते हुए कहा कि कई बार जाकर भी तेजी से काम नहीं हो पाता है लेकिन अब काम हो रहा है और जल्द ही इस प्रोजेक्ट पर तेजी से काम शुरू कर दिया जाएगा.