‘सबसे बड़ा ऑन-कैमरा वाइल्डलाइफ सर्वे’: भारत का 2018 का टाइगर सेंसस गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में शामिल

NEWS

Highlights

  • सबसे बड़ा ऑन-कैमरा वाइल्डलाइफ सर्वे’: भारत का 2018 का टाइगर सेंसस गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में शामिल हुआ
  • भारत की बाघों की आबादी धीरे-धीरे बढ़ रही है।
  • केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने इसे बड़ी उपलब्धि बताया .

भारत का 2018 टाइगर सेंसस दुनिया के सबसे बड़े ऑन-कैमरा वन्यजीव सर्वेक्षण के लिए गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज किया गया है।

पीटीआई के अनुसार, ऑल इंडिया टाइगर एस्टीमेशन 2018 के चौथे चक्र में 2,967 बाघ या कहे वैश्विक बाघों की आबादी का कुल 75% भारत मे अनुमानित है। उसी के परिणाम पिछले साल ग्लोबल टाइगर डे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा घोषित किए गए थे।

भारत का 2018 टाइगर सेंसस दुनिया के सबसे बड़े ऑन-कैमरा वन्यजीव सर्वेक्षण के लिए गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज किया गया है।
केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने इसे बड़ी उपलब्धि बताया और ट्वीट किया, ‘ऑल इंडिया टाइगर एस्टीमेशन अब गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में सबसे बड़ा कैमरा ट्रैप वन्यजीव सर्वेक्षण, के लिए दर्ज हैं. .


गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स वेबसाइट के अनुसार सर्वेक्षण का चौथा पुनरावृत्ति – 2018-19 में आयोजित किया गया जो संसाधन और डेटा दोनों के मामले में आज तक सबसे व्यापक कैमरा ट्रैप (मोशन सेंसर्स के साथ लगे बाहरी फोटोग्राफिक उपकरण जो किसी जानवर के गुजरने पर रिकॉर्डिंग शुरू करते हैं) था। जो 141 विभिन्न साइटों में 26,838 स्थानों पर रखा गया और 121,337 वर्ग किलोमीटर (46,848 वर्ग मील) के प्रभावी क्षेत्र का सर्वेक्षण किया गया।