बीसीसीआई ने भारत अरुण को गेंदबाजी कोच के रूप में नियुक्त किया, संजय बांगड़ को सहायक कोच के रूप में काम करना जारी रखा

CRICKET

नई दिल्ली: सभी अटकलों को खत्म करने के लिए, भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने मंगलवार को भारत अरुण को टीम इंडिया के नए गेंदबाजी कोच के रूप में नियुक्त किया।

एक प्रेस सम्मेलन में बोलते हुए, बीसीसीआई के संयुक्त सचिव अमिताभ चौधरी ने मीडिया शासक को रवि शास्त्री के तहत टीम के नए सहायक स्टाफ के बारे में बताया।

चौधरी ने कहा कि अरुण को 2019 क्रिकेट विश्व कप के समापन तक टीम के साथ पूर्णकालिक भूमिका मिली, संजय बांगर भारतीय टीम के सहायक कोच के रूप में सेवा जारी रखेंगे।

आज  दोपहर  को सीओए की मीटिंग हुए जिस मै सपोर्ट स्टाफ का चयन हुआ मीटिंग मे चार सदस्यीय पैनल में प्रशासक समिति (सीओए) के सदस्य डायना एड्लजी, सीईओ राहुल जोहरी, कार्यवाहक सचिव अमिताभ चौधरी और कार्यकारी अध्यक्ष सी.के. खन्ना शामिल थे।

हाल ही में मुख्य कोच के रूप में नियुक्त किए जाने के बाद, शास्त्री ने गेंदबाजी कोच की स्थिति के लिए अरुण का नाम रखा। यह आश्चर्यचकित नहीं हुआ क्योंकि दोनों ने शास्त्री के दो साल के कार्यकाल में राष्ट्रीय टीम के टीम निदेशक के रूप में एक साथ काम किया था।

जब राहुल द्रविड़ और जहीर खान की भूमिकाओं के बारे में पूछा गया, दोनों चौधरी और शास्त्री ने कहा कि उनके इनपुट मूल्यवान होंगे।

रवि शास्त्री और भरत अरुण का नाता है खास :

– 1979 भारतीय अंडर-19 क्रिकेट टीम के जब रवि शास्त्री कप्तान थे. तब उसी टीम में गेंदबाज के तौर पर भरत अरुण खेल रहे थे.

– अरुण इससे पहले 2014 में टीम इंडिया के गेंदबाजी कोच रह चुके हैं, और वह भी तब जब उस वक़्त रवि शास्त्री टीम डायरेक्टर थे.

– रवि शास्त्री के ही कहने पर ई श्रीनिवासन ने भरत अरुण को टीम का गेंदबाजी कोच बनाया था.

– जब तक रवि शास्त्री टीम इंडिया से मैनेजर और डायरेक्टर के तौर पर जुड़े रहे तब तक भरत अरुण भी टीम के साथ थे.

5 विकेट लेने वाले भरत अरुण 610 विकेट लेने वाले जहीर खान पर पड़े भारी

एक गेंदबाज के रूप में जहीर खान का भरत अरुण से ज्यादा अनुभव है. जहीर खान ने 200 एक दिवसीय मैच खेले हैं और 282 विकेट लिए हैं. जबकि अरुण ने सिर्फ चार एक दिवसीय मैच खेले हैं और एक विकेट लेने में कामयाब हुए हैं. भरत अरुण ने भारत के लिए 2 टेस्ट मैचों में 4 विकेट और 4 वनडे मैचों में सिर्फ 1 विकेट हासिल किए हैं. वहीं, जहीर खान का रिकॉर्ड देखें तो उन्होंने वनडे, टेस्ट और टी-20 में  कुल 610 विकेट हासिल किए है. जहीर ने वनडे में 282, टेस्ट में 311 और टी-20 में 17 विकेट हासिल किए है, जबकि अरुण के खाते में वनडे और टेस्ट को मिलाकर सिर्फ पांच विकेट ही हैं.