ग्लोबल फायरपावर रैंकिंग:भारत सैन्य शक्ति ग्लोबल फायरपावर रैंकिंग मे विश्व मे चौथे स्थान पर

STORY

New Delhi[Mithilanchalnews.in]:-भारत सैन्य शक्ति ग्लोबल फायरपावर रैंकिंग मे विश्व मे चौथे स्थान पर है, ग्लोबल फायरपावर ने अपने रैंकिंग मे 133 देशों को उसके सैन्य कौशल के आधार पर स्थान दिया है, इस रैंकिंग में भारत केवल अमेरिका, रूस और चीन के पीछे है। भारत का पश्चिमी पड़ोसी पाकिस्तान ग्लोबल फायरपावर रैंकिंग मे 13 वीं पायदान पर काबिज है।

भारत ने जीएफपी की लिस्ट में शीर्ष पांच सेना शक्तियों के बीच अपनी स्थिति बनाए रखने में कामयाबी हासिल की है, जबकि पाकिस्तान पिछले वर्ष शीर्ष 15 में स्थान पाने मे कामयाब रहा है।शीर्ष 10 सैन्य शक्तियां मे फ्रांस, ब्रिटेन, जापान, तुर्की और जर्मनी, शामिल है।



इस बीच, चीन दूसरे पायदान पर काबिज रूस को पीछे छोड़ने और जल्द ही दूसरे स्थान पर पहुंचने के बेताब देख रहा है। चीन ने अपने विमान और नौसैनिक जहाजों की संख्या रूस से अधिक कर ली है, लेकिन रूस मे तत्काल सेवा में कुल टैंकों की संख्या बहुत अधिक है चीन के मुकाबले ।

ग्लोबल फायरपावर रैंकिंग का निर्धारण 50 मनको के आधार पर किया जाता है , जिस मे सैन्य संसाधनों, प्राकृतिक संसाधनों, उद्योग और भौगोलिक विशेषताओं और उपलब्ध जनशक्ति शामिल है। इस के आधार पर ही रैंकिंग पूरी की जाती है। भारत और चीन को रैंकिंग मे उच्च मिलने का कारण उन देशों मे उपलबध सैनिक बलों के संख्या अधिक होना भी है।



जीएफपी के आकलन के मुताबिक, चीन की कुल संख्या 3,77,125 के मुकाबले भारत के 4,207,250 सैनिक बलों है। चीन, हालांकि, भारत के 1,362,500 की तुलना में 2,260,000 सक्रिय सैनिकों के साथ सक्रिय सैनिकों के मामले में भारत से आगे खड़ा है। भारत के पास आरक्षित सैनिक बलों की संख्या 2,844,750 है, जबकि चीन 1,452,500 के साथ भारत से पीछे था।

जबकि पाकिस्तान के साथ तुलना में,भारत हमलावर हेलीकाप्टरों की संख्या को छोड़कर सभी मामलो मे पाकिस्तान से बहुत आगे खड़ा है । रैंकिंग के मनको मे परमाणु हथियारों को शामिल नह किया गया था। लेकिन परमाणु क्षमता के लिए अंक दिए, चाहे वह मान्यता परमाणु हथियार हो या संदिग्ध हो।

             ————————————————-mithilanchalnews————————————————————–
फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुकट्विटर, गूगल प्लस पर..

Read all latest  headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.