PAK को लीक करता था ब्रह्मोस की जानकारी, जानें कौन है DRDO का गिरफ्तार कर्मचारी?

BREAKING NEWS NEWS

उत्तराखंड के रहने वाले DRDO  (रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन) कर्मचारी निशांत अग्रवाल को पाकिस्तान को सीक्रेट जानकारी देने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. उन्हें सोमवार को नागपुर से मिलिट्री इंटेलिजेंस (दिल्ली) और यूपी एटीएस की टीम ने गिरफ्तार किया है.

आरोप है कि ये कर्मचारी भारत के अति महत्वपूर्ण मिसाइल ‘ब्रह्मोस’ से जुड़ी जानकारी पाकिस्तान और अमेरिका को दे रहा था. DRDO ने भारत-रूस के ज्वाइंट वेंचर के तौर पर ब्रह्मोस को डेवलप किया.

 निशांत नागपुर में रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) में 4 साल से काम कर रहे थे. उन पर ऑफिशियल सीक्रेट एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है.

ब्रह्मोस 3700 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड से 290 किलोमीटर तक के ठिकानों पर अटैक कर सकती है. ब्रह्मोस कम ऊंचाई पर उड़ान भरती है इसलिए रडार की पकड़ में नहीं आती. भारत की ब्रह्मपुत्र और रूस की मस्कवा नदी पर ब्रह्मोस का नाम रखा गया है.